Friday, December 2, 2022
ಖ್ಯಾತ ನಿರ್ಮಾಪಕ ಮುರಳೀಧರನ್ ಹೃದಯಾಘಾತದಿಂದ ನಿಧನ; ಕಂಬನಿ ಮಿಡಿದ ಕಮಲ್ ಹಾಸನ್-ನಟ ವಸಿಷ್ಠ ಸಿಂಹ ಜೊತೆ ನಿಶ್ಚಿತಾರ್ಥ ಮಾಡಿಕೊಂಡ ನಟಿ ಹರಿಪ್ರಿಯಾ-ಕಲ್ಯಾಣ ಕರ್ನಾಟಕದಲ್ಲಿ ಬಿಜೆಪಿ ದ್ವೇಷ ರಾಜಕಾರಣ ಮಾಡುತ್ತಿದೆ: ಸುರ್ಜೇವಾಲಾ-6ನೇ ತರಗತಿಯ ಬಾಲಕ ಹೃದಯಾಘಾತದಿಂದ ಸಾವು-ಭಾರತವಿಂದು ಜಗತ್ತಿನ ನಂ.1 ಹಾಲು ಉತ್ಪಾದಕ: ಕೇಂದ್ರ ಸಚಿವ ಪರುಷೋತ್ತಮ ರೂಪಲಾ-ಪ್ರಜಾಪ್ರಭುತ್ವದ ಬಗ್ಗೆ ವಿಶ್ವ ನಮಗೆ ಪಾಠ ಮಾಡಬೇಕಿಲ್ಲ, ವಿಶ್ವಸಂಸ್ಥೆಗೆ ಭಾರತದ ದಿಟ್ಟ ಉತ್ತರ!-ಮಾಜಿ ಸಿಎಂ ಸಿದ್ದರಾಮಯ್ಯ ಆಸ್ಪತ್ರೆಗೆ ದಾಖಲು-ಸ್ಮಿತ್ ಬ್ಯಾಟ್‍ನಿಂದ ಹೊಡೆತ ತಿಂದ ಅಂಪೈರ್-ಸೇಡು ತೀರಿಸಿಕೊಳ್ಳಲು ಬಾಲಕಿ ಮೇಲೆ ಅತ್ಯಾಚಾರವೆಸಗಿ ಕೊಲೆ ಮಾಡಿದ 15ರ ಬಾಲಕ-ಹೊಸ ಆಲೋಚನೆಯ ಅಭಿವೃದ್ಧಿ ಚಿಂತನೆಯ 'ಸಮೃದ್ಧ ಕೊಡಗು' ಪರಿಕಲ್ಪನೆಯ ಮೂಲಕ ಕೊಡಗಿನಲ್ಲಿ ಗಮನ ಸೆಳೆಯುತ್ತಿರುವ ಡಾ. ಮಂತರ್ ಗೌಡ
Previous
Next

27 बोरों में 520 कछुए, देवरिया से बंगाल भेजने की थी तैयारी, GRP-RPF ने ऐसे पकड़ा

Twitter
Facebook
LinkedIn
WhatsApp

उत्तर प्रदेश के देवरिया रेलवे स्टेशन से जीआरपी और आरपीएफ ने प्लेटफार्म पर तलाशी के दौरान प्रतिबंधित 520 कछुए बरामद किये हैं. सुरक्षाकर्मियों ने इन कछुओं को वन विभाग के सुपर्द कर दिया है. इनकी कीमत पांच लाख रुपये बताई जा रही है. हालांकि, इसमें किसी तस्कर की गिरफ्तारी नहीं हुई है. पुलिस ने आशंका जताई कि इन कछुओं को चोरी छिपे ट्रेन से पश्चिम बंगाल भेजा जा रहा था. लेकिन स्टेशन सुरक्षाकर्मियों की मुस्तैदी से ये कछुए बरामद कर लिए गए.


जानकारी के मुताबिक, रोजाना की तरह जीआरपी और आरपीएफ के सिपाही देवरिया सदर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर सघन तलाशी कर रहे थे. इस दौरान प्लेटफार्म संख्या 2/3 पर निर्माणाधीन फुट ओवर ब्रिज के नीचे कपड़ों के गट्ठर अनगिनत संख्या में संदिग्ध अवस्था में दिखाई पड़े. जवानों ने वहां मौजूद यात्रियों से पूछा कि ये सामान किसका है? लेकिन कोई भी शख्स सामने नहीं आया. फिर जब पुलिस ने गट्ठरों को छुआ तो उन्हें लगा कि अंदर शायद कछुए हैं.


जवानों ने इसकी सूचना तुरंत अपने सीनियर अधिकारियों को दी. सूचना मिलते ही आरपीएफ के इंचार्ज मनभरन और जीआरपी इंचार्ज सुधाकर उपाध्याय टीम के साथ मौके पर पहुंचे. गट्ठर खुलवाए गए तो सभी के होश उड़ गए. गट्ठरों में कछुए भरे हुए थे और उन्हें चादर से लपेटा गया था, ताकि किसी को शक ना हो. पुलिस ने तुरंत वन विभाग को इसकी सूचना दी. वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और कछुओं की गिनती शुरू की गई. गट्ठरों में कुल 520 प्रतिबंधित कछुए मिले. वन विभान की टीम फिर सारे कछुओं को अपने साथ ले गई और उन्हें नदी में छोड़ दिया गया. इन कुछओं की कीमत 5 लाख रुपये बताई जा रही है.

हमारा समर्थन करने के लिए यहां क्लिक करें

इससे जुड़ी अन्य खबरें

राष्ट्रीय

अंतरराष्ट्रीय